जानिए सरकार और RBI क्या योजना बना रही क्रिप्टोकरेंसी को लेकर।

Invest करते हैं तो जानिए कितना फायदा होगा क्रिप्टो करेन्सी से  (Cryptocurrency In Hindi)

What Is Cryptocurrency In Hindi – क्रिप्टोकरेन्सी एक डिजिटल या आभासी मुद्रा (Money) है जिसे विनिमय का माध्यम माना जाता है और यह वास्तविक दुनिया की मुद्रा के समान है, पर यह डिजिटल फॉर्म में होता है। सरल भाषा में कहें तो बढ़ती टेक्नोलॉजी और डिजिटलीकरण से करेन्सी ने भी डिजिटल रूप धारण कर लिया है, और डिजिटल करेन्सी को ही क्रिप्टोकरेन्सी कहा जाता है।

जैसे की बिटकोइन, लिब्रा ऐ सब डिजिटल करेंसी का नाम है आपने कई बार सुना होगा लेकिन आज आपको उन सारे सवालों के जबाब इस लेख में मिल जायेंगे जैसे की क्रिप्टोकरेन्सी क्या है, क्रिप्टोकरेन्सी कैसे काम करती है, क्रिप्टो करेंसी में ट्रेड कैसे करतें हैं, क्रिप्टोकरेन्सी का फ्यूचर क्या है, क्रिप्टोकरेन्सी कितने प्रकार की होती है, क्या क्रिप्टोकरेन्सी इंडिया में Ban है। क्रिप्टो करेंसी से सम्बंधित ऐसे बहुत से सवालों के जबाब इस आर्टिक्ल में बताये गए हैं।

पढ़िए सफलता की पांच शानदार टिप्स

क्रिप्टो करेंसी क्या है | cryptocurrency kya hai

क्रिप्टो करेंसी क्या है और इसके बेनिफिट क्या हैं अथवा इसका प्रयोग कैसे करते हैं इन सरे सवालों के जबाब आज आपको मिल जायेंगे।
क्रिप्टोकरेन्सी एक वर्चुअल करेंसी है जिसे 2009 में लॉन्च किया गया था, जो पहली Most Popular क्रिप्टोकरेन्सी लॉन्च की गई थी उसका नाम बिटकॉइन (Bitcoin) है।

आज एक बिटकॉइन की कीमत 32 लाख रूपये से अधिक है। बिटकॉइन का पेमेंट कंप्यूटर के द्वारा किया जाता है क्योंकी ये कम्प्यूटर एल्गोरिथम पे काम करती है।
क्रिप्टो करेंसी को रुपये या सिक्कों की तरह हम हाथ में तो नहीं ले सकते न ही अपनी जेब में रख सकते हैं, लेकिन ये हमारे डिजिटल वॉलेट में सेफ रहती है इस लिए आप इसे Online Currency भी कह सकते हैं। क्योंकी ये केवल ऑनलाइन ही उपस्थित होती है।

 क्रिप्टो करेंसी का डिटेल्स हिंदी में | Cryptocurrency Ka Details In Hindi

जैसा की दोस्तों आप जानते है की किसी भी देश की मुद्रा जैसे रुपये, डॉलर, यूरो जैसी मुद्रा पर सरकार और सेंट्रल बैंक का पूरा कण्ट्रोल होता है, लेकिन क्रिप्टो करेंसी पर गवर्नमेंट, सेंट्रल बैंक अथवा किसी एजेंसी का कोई कण्ट्रोल नहीं होता है।

यानी क्रिप्टो करेंसी वर्तमान बैंकिंग सिस्टम को फॉलो नहीं करती है, बल्कि यह डिजिटल करेंसी कंप्यूटर सिस्टम अथवा अप्लीकेशन के द्वारा एक वॉलेट से दूसरे वॉलेट में ट्रांसफर होती रहती है।

आज दुनिया भर में क्रिप्टोकरेन्सी की एक्सेप्टेंस बढ़ती जा रही है और बिज़नेस मैन अपने इंटरनेशनल पेमेंट को आसान बनाने के लिए वर्चुअल क्रिप्टोकरेन्सी का यूज़ कर रहे हैं। Bitcoin ही केवल क्रिप्टोकरेन्सी नहीं बल्कि आज के समय में 5000+ क्रिप्टोकरेन्सी मौजूद हैं जो की नीचे कुछ Popular क्रिप्टोकरेन्सी के लिस्ट मौजूद हैं इनमे आप इन्वेस्ट कर सकते हैं।

 

कुछ महत्वपूर्ण क्रिप्टो करेंसी के नाम | Most Popular List of Cryptocurrency In Hindi

Bitcoin Cash (BCH)
• Libra
• Cardano (ADA)
• Ethereum (ETH)
• Litecoin (LTC)
• Monero (XMR)
• Polkadot (DOT)
• Tether (USDT)
• Chainlink (LINK)
• Binance Coin (BNB)

 क्रिप्टो करेंसी का फ्यूचर हिंदी में | Cryptocurreny Future In Hindi

  • भविष्यवादियों का मानना है कि वर्ष 2030 तक, क्रिप्टोकरेंसी 25 प्रतिशत राष्ट्रीय मुद्राओं पर कब्जा कर लेगी, जिसका अर्थ है कि दुनिया का एक महत्वपूर्ण हिस्सा क्रिप्टोकरेंसी को लेन-देन के रूप में मानना शुरू कर देगा।
  • यह व्यापारियों और ग्राहकों द्वारा तेजी से स्वीकार किया जा रहा है, जिस कारण इसमें उतार – चढ़ाव भविष्य में बना रहेगा , जिसका अर्थ है कि कीमतों में उतार-चढ़ाव जारी रहेगा
cryptocurrency ka future in hindi
Cryptocurrency Future Graph

क्रिप्टोकरेन्सी कैसे काम करती है | How To Work Cryptocurrency In Hindi

क्रिप्टोकरेन्सी के साथ लेनदेन करने के लिए, आप एक डिजिटल वॉलेट का उपयोग करके मुद्रा का आदान-प्रदान कर सकते हैं। क्रिप्टोकरेन्सी वॉलेट एक सॉफ्टवेयर है जो आपको एक खाते से दूसरे खाते में धन हस्तांतरित करने की अनुमति देता है। जिसे क्रिप्टोकरेन्सी वॉलेट के रूप में जाना जाता है।

क्रिप्टोकरेन्सी खनन लेन-देन को सत्यापित करने के लिए आवश्यक प्रक्रिया ह, इसमें भारी मात्रा में कंप्यूटर वर्क और जटिल एल्गोरिदम शामिल हैं।

क्रिप्टोकरेंसी को कैसे खरीदें और बेचें | How To Trade In Cryptocurrency In Hindi

क्रिप्टोकरेन्सी मार्किट अन्य वित्तीय बाजारों से अलग तरीके से काम करता है, जिससे यह सीखना महत्वपूर्ण हो जाता है कि यह कैसे काम करता है, और निवेश करने से पहले क्रिप्टोकरेन्सी की मार्किट को समझना बेहद जरुरी है।

क्रिप्टोकरेन्सी मार्किट एक Decentralized डिजिटल Money नेटवर्क है, जिसका अर्थ है कि यह एक Central सर्वर के बजाय पीयर-टू-पीयर लेन-देन जांच प्रणाली के माध्यम से काम करता है। जब क्रिप्टोकरेंसी खरीदी और बेची जाती है, तो लेन-देन को ब्लॉकचेन से जोड़ा जाता है, ब्लॉकचेन एक Sharing डिजिटल लेज़र होता है, जो एक्टिविटी को रिकॉर्ड करता है।

कुछ महत्वपूर्ण स्टेप

• रिसर्च करें की आप क्रिप्टोकरेन्सी में निवेश कैसे करना चाहते हैं।
• जानें कि क्रिप्टोकरेन्सी मार्किट कैसे काम करता है।
• अपना खाता खोलें।
• एक ट्रेडिंग योजना बनाएं।
• अपना क्रिप्टोकरेन्सी ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म चुनें।
• पहला ट्रेडिंग करें और मॉनिटर करें।

क्या भारत में क्रिप्टो करेंसी लीगल है | Cryptocurrency Legal In India In Hindi

भारत में क्रिप्टोकरेन्सी का क्रेज बढ़ते जा रहा है और इस क्रेज़ को बनाए रखने के लिए, भारत की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आधिकारिक डिजिटल मुद्रा विधेयक, 2019 का क्रिप्टोक्यूरेंसी और विनियमन – संसद में पेश किए जाने से पहले वित्त मंत्री कह चुकी हैं कि वह क्रिप्टोकरेंसी से जुड़े विधेयक को लेकर संसद की मंजूरी का इंतजार कर रही हैं।

उम्मीद यही की जा रही है की मंत्रिमंडल की मंजूरी मिल जाएगी। क्योकि रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया (RBI) के गवर्नर श्री शक्तिकांत दास इस बात को स्पस्ट कर चुके हैं की भारत में Digital Currency लाने के लिए RBI बिचार कर रहा है और इस बात की पूरी संभावना है की इसी साल भारत की Digital Currency लॉन्च हो।

क्या होगा अगर मंत्रिमंडल भारत के क्रिप्टोकरेन्सी विधेयक की मंजूरी नहीं देता है?

यदि कैबिनेट द्वारा बिल को खारिज कर दिया जाता है, तो संभव है की क्रिप्टोकरेंसी पर कुछ समय के लिए प्रतिबन्ध किया जा सकता है, खासकर अगर भारत सरकार क्रिप्टोकरेंसी के लिए एक नरम दृष्टिकोण लेना चाहती है।

केंद्रीय मंत्रिमंडल जल्द ही क्रिप्टो करेन्सी बिल पर विचार करेगा, जो की आर्थिक मामलों के सचिव की अध्यक्षता में, एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया गया है और यह समिति क्रिप्टोकरेंसी पर अपनी रिपोर्ट पहले ही जमा कर चुकी है।

इससे पहले भी केंद्र सरकार ने डिजिटल Currency से संबंधित मुद्दों का अध्ययन करने और क्रिप्टोकरेन्सी के संबंध में विशिष्ट कार्यों का प्रस्ताव करने के लिए पैनल का गठन किया था।

Leave a Comment