सीख से भरी 7 प्रेरणादायक कहानियाँ – Top 7 Moral Stories in Hindi

Short Moral Stories in Hindi – का मतलब होता है लघु नैतिक कहानियां। एक समय था जब कहानी की किताबें बच्चों के लिए मनोरंजन का एकमात्र स्रोत हुआ करती थीं। प्रेरणादायक कहानियां सुनना बच्चों का प्राकृतिक शौक हुआ करता था। बच्चों के लिए लघु नैतिक कहानियों को पढ़ना और समझना बहुत आसान होता है। इस तरह की कहानियों को पढ़ने मे समय भी कम लगता है। लेकिन, अब समय बदल गया है – इंटरनेट के युग में, बच्चे अपना अधिकतर समय स्मार्टफोन पर गेम खेलने या YouTube पर कार्टून या वीडियो देखने में बिताते हैं।

यदि आप अपने बच्चों में शुरू से ही अच्छी आदतें डालना चाहते हैं और उन्हें बड़े होकर अच्छे इंसान बनते देखना चाहते हैं, तो उन्हें नैतिक कहानियाँ पढ़ाये। हमारे पास नैतिक मूल्यों वाली कुछ लोकप्रिय लघु कथाओं Moral Stories for Kids in Hindi का संग्रह है जिसे आप अपने बच्चों को पढा सकते हैं।

सीख से भरी 7 प्रेरणादायक कहानियाँ (Short Moral Stories in Hindi)

  1. बुद्धिमानी से गिनेंCount Wisely

एक दिन, राजा अकबर ने अपने दरबार में एक ऐसा प्रश्न पूछा जिसने दरबार में उपस्थित सभी लोगो को हैरान कर दिया।जैसे ही वे सभी लोग उत्तर जानने की कोशिश कर रहे थे, तभी बीरबल दरबार में अंदर आए और पूछा कि मामला क्या है। तब राजा अकबर ने बीरबल के लिए प्रश्न दोहराया।

सवाल था, “शहर में कितने कौवे हैं?”

प्रश्न सुनकर बीरबल तुरंत मुस्कुराए और राजा अकबर के पास गए। और उन्होंने दरबार में उपस्थित सभी लोगो के सामने उत्तर की घोषणा की; बीरबल ने कहा, नगर में इक्कीस हजार पांच सौ तेईस कौवे है।

यह पूछे जाने पर कि वह उत्तर कैसे जानता है, बीरबल ने बढ़ी ही बुद्धिमानी के साथ उत्तर दिया, अपने आदमियों से कौवे की संख्या गिनने के लिए कहो। अगर कौवे की संख्या अधिकआती हैं, तो कौवे के कुछ रिश्तेदार मिलने के लिए इधर उधर शहरों से आये होंगे।

और अगर कौवे की संख्या कम आती हैं, तो हमारे शहर के कौवे शहर से बाहर रहने वाले अपने रिश्तेदारों के पास गए होंगे।।बीरबल के द्वारा दिए गए इस उत्तर से खुश होकर राजा अकबर ने बीरबल को उपहार के रूप में एक माणिक और मोती की माला भेंट की।

कहानी की नीति – Moral of the Story is:

इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है की आपके उत्तर के लिए विवरण, होना उतना ही आवश्यक है जितना कि उत्तर होना।

 

  1. मां की ममता – Mother’s love

रामगढ़ नामक गांव में एक बहुत बड़ा आम का पेड़ था जिसपर एक सुरीली नाम की चिड़िया रहती थी। सुरीली नाम की चिड़िया ने उस आम के पेड़ पर बहुत सुंदर घोंसला बनाया हुआ था। इस आम के पेड़ पर सुरीली अपने छोटे-छोटे बच्चों के साथ में रहती थी। बच्चे अभी उड़ना भी नहीं जानते थे , इसीलिए सुरीली उन सभी को खाना ला कर खिलाती थी।

एक दिन जब गांव में बरसात बहुत तेज हो रही थी। तभी सुरीली के बच्चों को बहुत जोर से भूख लगने लगी। देखते-देखते सभी बच्चे भूख के करण खूब जोर जोर से रोने लगे । बच्चों को भूख से परेशान देख सुरीली को बिलकुल अच्छा नहीं लग रहा था। सुरीली  ने अपने बच्चों को चुप करने की बहुत कोशिश की, किंतु बच्चे भूख के करण चुप नहीं हो रहे थे।

सुरीली दुविधा में पड़ गई , और सोचने लगी की इतनी तेज बारिश में बच्चों के लिये खाना कहां से लाऊं । लेकिन अगर खाना नहीं लाई तो बच्चों की भूख कैसे शांत होगी ये सोचकर सुरीली ने एक लंबी उड़ान भरी और वे पंडित जी के घर जा पहुंची।

पंडित जी ने प्रसाद में मिले चावल और दाल आंगन में रखे हुए थे सुरीली ये देखकर खुश हो गई और बच्चों के लिए अपने मुंह में ढेर सारा चावल का दाना भराने लगी, और झटपट दाना इकट्ठा कर वहां से उड़ गई।

घोसले में पहुंचकर चिड़िया ने सभी बच्चों को चावल का दाना खिलाया जिसे खाकर बच्चों का पेट भर गया।

कहानी की नीति – Moral of the Story is:

इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है की संसार में मां की ममता का कोई जोड़ नहीं है अपनी जान विपत्ति में डालकर भी अपने बच्चों के हित में कार्य करती है।

3 खरगोश और कछुए की कहानी

4 क्रितघ्न यात्री

5 भूखी लोमड़ी और चरवाहे

6 सोने के अंडे देने वाली हंसिनी

7 लोमड़ी और बकरी की कहानी

हमें उम्मीद है की आपको हमारी Top 7 Moral Stories in Hindi पढ़ कर जरूर मज़ा आया होगा।

Leave a Comment